visa kya hai visa kaise banvate hai full guide

visa kya hai visa kaise banvate hai full guide 


visa kya hai visa ke liye kaise apply kare, visa ke liye kya kya document lagate hai ये सभी प्रश्न तभी हमारे मन मे आते है। जब हमें अपने देश से दूसरे में जाने की जरूरत पड़ती है। अगर आप visa के  बारे में सम्पूर्ण जानकारी चाहते है। तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद visa से सम्बंधित सभी doubt clear हो जाएंगे। इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिये। 

visa kya hai visa kaise banvate hai full guide


अगर विदेश घूमने की बात आती है। तो सभी लोग स्विजरलैंड घूमना चाहते है।  क्योंकि वह बहुत ही ठंडी वाला देश है और वहां के दृश्य काफी मनमोहक होते हैं लेकिन दूसरे देश जाने के लिए कुछ document की जरूरत पड़ती है जैसे पासपोर्ट(passport) और वीजा.(visa) हम लोगो मे से ज्यादातर लोगों को पासपोर्ट के बारे में मालूम होता है लेकिन बहुत कम लोग वीजा के बारे में जानते है (What is VISA full guide ). इस आर्टिकल में आप visa के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले है।


वर्ल्ड में कई देश है और यह अलग-अलग महाद्वीपों में स्थित है. अगर आप इन country में जाना चाहते है। तो आपको passport की जरूरत होती है। इसके बिना आप दूसरे देश में नहीं जा सकते है। जबकि अपने देश के अंदर बिना passport के रह सकते है लेकिन जब किसी भी देश में जाना हो तो उसके पास passport होना जरूरी है। जैसे अपने देश मे आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है। उसी प्रकार दूसरे देश मे रहने के लिए passport का होना जरुरी है। इसके अलावा एक और जरूरी document है वह है वीजा.(visa) वीजा से यह पता चलता है कि कोई व्यक्ति किस देश मे किस उद्देश जा रहा है। और उसे कब तक रहना है। जब लोगों को बाहर जाना होता है तभी वह passport और visa के पीछे भागते हैं और ऐसी जल्दबाजी होती है कि उन्हें हर चीज तुरंत करना होता है और उस समय उनके पास इसका ज्ञान भी नहीं रहता है। visa के लिए क्या-क्या document लगते है। यह कितने दिनों में बनता है। visa कितने प्रकार का होता है। अगर आप आवश्यक document लेकर नही जाते है। तो आपको वापस लौटना पड़ता है। इस स्थिति में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ जाता है।


अगर आप ये सब कुछ जानना चाहते है। तो इसे पढ़ें। इसे पढ़ने के बाद आपको visa के बारे में किसी से कुछ पूछने की जरूरत नही पड़ेगी।

visa kya hai visa kaise banvate hai full guide  


एक visa एक आधिकारिक सर्टिफिकेट होता है जो किसी यात्री यानी सफर करने वाले व्यक्ति को एक निश्चित country का दौरा करने का परमिसन देता है. आमतौर पर एक passport के पेज पर चिपकाए गए स्टीकर document के रूप में या फिर passport पेज में से एक स्टांप के रूप में होता है. यह दोनों ही चीजें इस बात की ओर इशारा करती है कि किसी व्यक्ति को किसी देश के अंदर रहने की अनुमति है. इसके अलावा यह भी पता चलता है कि उस व्यक्ति को देश में कितने दिनों के लिए अनुमति दी जाएगी। वह कब इस देश को छोड़कर अपने देश मे जाने वाला है।


आप जिस भी country में जाना चाहते है। उस देश की इमीग्रेशन अथॉरिटी आपके लिए वीजा issue करती हैं. आप सभी को पता होगा। कि सभी देश मे एक एम्बेसी होती है। आप जिस भी देश मे जाना चाहते है। उस देश की एम्बेसी या Consulate ही आपका वीजा issue करने का काम करती है. कभी-कभी ऐसा होता है कि आप किसी country में जाना चाहते हैं और उस कंट्री का दूतावास आपके अपने देश में स्थित नहीं होता है तो इस सूरत में आपको किसी दूसरे देश में जाना होगा जहां से आपके जाने वाले देश के लिए visa issues करने वाली दूतावास अधिकृत हो . आपका visa वहां से बनवाना होता है।


visa देने के पीछे सभी देशों का अपना अलग-अलग रूल है। उसके हिसाब से आपको उस देश में जाने के लिए visa issue किया जाता है। visa के कई प्रकार है यह इस पर निर्भर करता है कि आप उस देश में किस कार्य के लिए जाना चाहते हैं, आप की राष्ट्रीयता क्या है, आप जिस country में जाना चाहते हैं वहां के नियम कानून क्या है, आप वहां घूमने के लिए जाना चाहते हैं या फिर कोई work करने के लिए जाना चाहते हैं।


visa kya hai visa kaise banvate hai full guide 

visa के प्रकार 


Student Visa

जैसा कि नाम से ही मालूम होता है जो छात्र पढ़ाई करने के लिए दूसरी country में जाते हैं उनके लिए student Visa जारी किया जाता है.अगर आप किसी दूसरी country में जाकर पढ़ना चाहते है। तो आपको कई तरह के document की जरूरत पड़ती है। उसमें से visa भी एक महत्वपूर्ण document है।इसके बिना आप उस देश मे नही जा सकते है। हर देश में अपने अलग इमीग्रेशन के कानून लागू होते हैं. एक बात और है। student के लिए जो visa जारी किया जाता है। उसमें कुछ रियायत होती है। working visa की तुलना में । बहुत से युवा student visa लेकर वहां पढ़ने जाते है। और वहां जाकर जॉब भी करते है। यह उस देश की कानून व्यवस्था में शामिल है।

Working Visa

यह एक प्रकार का work permit है जो आपको किसी दूसरी country में जाने और किसी निश्चित समय के लिए वहां work करने के लिए दिया जाता है. work visa के बिना आप किसी दूसरी country में काम नहीं कर सकते है। work permit  जारी करने के लिए विभिन्न देशों की अपनी अलग-अलग प्रक्रिया होती हैं. work permit visa या तो टेंपरेरी या फिर permanent आधार पर जारी किया जाता हैं. एक टेंपरेरी work visa एक खास समय के लिए valid होता है। visa में निर्धारित समय तक ही आप उस देश मे रह सकते है। यदि आप और अधिक समय तक उस देश मे रहना चाहते है। तो आप अपने visa को रिन्यू कराने की जरूरत पड़ेगी। वर्क permit इस बात पर निर्भर होता है कि काम कितने दिनों का है और लेबर मार्केट की कंडीशन क्या है.


न्यूजीलैंड जैसे देशों में आपको work permit से रेसिडेंट visa अप्लाई करने की सुविधा मिलती है. work visa को रेसिडेंस visa में बदलने के लिए आपको कुछ शर्तें पूरी करनी पड़ती है जैसे कि आपकी उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए, आपका स्वास्थ्य और आपका कैरेक्टर स्वच्छ होना चाहिए। इसी तरह USA  में भी एक विदेशी नागरिक अधिक से अधिक 6 साल के लिए WORK permit ले सकता है. ऐसे में जितने भी work permit अप्रूव किये जाते हैं वह यूएससीआईएस (यूनाइटेड स्टेट सिटीजनशिप एंड इमीग्रेशन सर्विसेज संस्था) द्वारा की जाती है.


Business Visa

जैसा कि नाम से मालूम होता है। कि यदि आप किसी bussiness से सम्बंधित वर्क से दूसरे देश मे जा रहे है। तो आपको इस visa की जरूरत पड़ती है। जैसे सेमिनार में भाग लेना bussiness meeting और confrence में जाने के लिए यह काम आता है लेकिन इसका इस्तेमाल बिजनेस कंडक्ट करने के लिए नहीं होता है.

Medical Visa

जैसा कि नाम से विदित होता है। कि यदि आप आप अपने इलाज के लिए दूसरी कंट्री में जाना चाहते है। तो आपको इस visa की जरूरत पड़ती है।


Tourist Visa

कुछ देशों के बीच में agreement होता है जो एक country के यात्री को बिना Visa दूसरे देश में जाने की permission नही होती हैं लेकिन जो traveling करने वाले यात्री होते हैं उनको अधिकतर जगहों के लिए  इसे प्राप्त करने की योजना बनानी चाहिए. इसके लिए आपको रहने की अवधि, यात्रा का उद्देश्य, आपके द्वारा की जाने वाली गतिविधियों का उद्देश्य , visa के प्रकार जानना जरूरी है.

Journalist Visa


आपने देखा होगा। कि एक देश से दूसरे देश मे पत्रकार और मीडिया रिपोर्टर जाते है। ऐसा नही की उन्हें visa की जरूरत नही पड़ती है। सभी मीडिया institute अपने रिपोर्टर के लिए इस तरह के visa का प्रबंध करती है।
अधिकतर बड़े देशों में अपने reporter को रखती है जिसके लिए इसी visa का यूज किया जाता है.

Transit Visa

transit visa बहुत ही कम समय के लिए दूसरे देश में रुकने के लिए तैयार किया गया है। उदाहरण के लिए UK, transit visa सिर्फ 48 घंटे के लिए जारी किया जाता है. ऑस्ट्रेलिया में transit visa 72 घंटे के लिए valid है. अगर आप निर्धारित ट्रांसिट समय से ज्यादा समय किसी देश में रुकना चाहते हैं। तो इसे रिन्यू कराना पड़ता है।


Freelancer Visa

इस प्रकार का visa बहुत कम लोग यूज करते है। आपको बता दें। कि फ्रीलांसरो को एक freelance परमिट दिया जाता है जो आपको एक प्रैक्टिशनर के रूप में जानता है इसके लिए आपको आपके brand नाम की बजाय आपको आपके जन्म के नाम से business चलाने का permission देता है.

Immigrant Visa

इस प्रकार का visa भी बहुत कम लोग यूज करते है। आपको बता दें। कि जब कोई व्यक्ति अपनी country छोड़कर दूसरी country में बसना चाहता है तो उसे इमीग्रेंट विजा बनवाना पड़ता है. इसे प्राप्त करने वाले व्यक्ति का मुख्य उद्देश्य नए देश का परमानेंट निवासी बनना ही होता है.

Diplomatic Visa 

आप सभी जानते है। कि leader की विदेशों की यात्रा करते है। ऐसे में उनके लिए visa की जरूरत पड़ती है। बिना visa आप दूसरे देश मे नही जा सकते है। जब एक देश के नेता दूसरे देश में किसी राजनीतिक कार्य के लिए जाते हैं तो उसके लिए diplomatic Visa की जरूरत पड़ती है. यह visa प्राप्त करने के बाद उन्हें दूसरे देश में जाकर सरकारी कामों को करने की अनुमति प्राप्त मिल जाती है. जिन लोगों के पास diplomatic passport होता है उन्हें भी डिप्लोमेटिक वीजा मिलता है.

Research Visa

आपने देखा होगा। कि बहुत से student दूसरे देश मे study के जाते है। आपको बता दें। कि जब कोई छात्र या फिर वैज्ञानिक  रिसर्च से जुड़े काम को करने के लिए दूसरे देश में जाता है तो उसे research Visa प्राप्त करना पड़ता है इसको प्राप्त करने के बाद वह दूसरे देश में होने वाले कॉन्फ्रेंस मीटिंग, सेमिनार, वर्कशॉप इत्यादि में भाग ले सकता है.


 Visa का महत्व

जब भी हम एक देश से दूसरे देश में जाते हैं तो हमें वीजा की जरूरत पड़ती है यह हर एक देश के लिए जरूरी है अगर आप अपने देश से किसी दूसरे देश में किसी भी कार्य के लिए जाते है। तो आप उस कार्य के अनुसार visa issue कराते है। तभी आपको उस देश मे जाने की permission मिलती है।


इमीग्रेशन कंट्रोल


आतंकवाद, अधिक जनसंख्या, और अर्थशास्त्र इन सभी मामलों को ध्यान में रखकर सभी देश यह हमेशा देखरेख करते है कि उसके देश में कौन प्रवेश कर रहा है. एक visa किसी केंद्र सरकार को बनाने या नियंत्रण करने का permission देता है कि कितने विदेशी यात्री देश में प्रवेश कर रहे हैं. इसके अलावा उनके पास इसका भी control होता है कि विदेशी यात्री कितने दिन तक देश के अंदर रह सकते है और कहां-कहां घूम सकते है और कौन से कामों को कर सकते है.

आइडेंटिटी वेरिफिकेशन


जब कोई बाहरी यात्री देश में प्रवेश करता है तो इमीग्रेशन डिपार्टमेंट visa application processकरता है जिसके माध्यम से उसे उस व्यक्ति के बारे में हर तरह की जानकारी प्राप्त हो जाती है. जो यात्री है उसका कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड हो या फिर उसकी जो economic background है वह भी इसके जरिए छानबीन की जा सकती है. इसके अलावा ये भी चेक किया जाता है कि जो यात्री देश मे है। उसके अंदर कोई ऐसी बीमारी तो नहीं जो आसानी से फैल सकती है। अगर इमीग्रेशन डिपार्टमेंट को लगता है कि यात्री उनके टेस्ट को पास नहीं कर रहा है। department को यह अधिकार है। कि वह उस यात्री को वही से वापिस कर दें

यात्रा

एक यात्री को पर्यटन या फिर business के लिए दूसरे देश का दौरा करते समय एक Visa प्राप्त करने की जरूरत होती है और कुछ देश ऐसे होते हैं जिनके यात्रियों को इस परिस्थिति में इसकी आवश्यकता नहीं होती है जैसे कि अमेरिका.

कार्य

भारत की आबादी काफी अधिक है और इसीलिए यहां पर व्यवसाय की काफी कमी है जिससे लोगों को नौकरियां नहीं मिलती है।  इस सूरत में लोग दूसरे देशों की तरफ अपना रुख करते हैं. दूसरे देशों में काम करने के लिए एक work permit दिया जाता है जिसके बिना आप दूसरे देश में जाकर सिर्फ घूम तो सकते हैं लेकिन काम नहीं कर सकते.

स्थायी नागरिकता

जब किसी व्यक्ति को दूसरे देश में परमानेंटली रहना हो तो इसके लिए immigration department ये निर्णय लेता है कि व्यक्ति permanent नागरिकता प्राप्त कर सकता है या नहीं. और जब उसे यह निश्चित हो जाता है कि व्यक्ति उसके देश में परमानेंट नागरिक जैसा रह सकता है तो फिर उसे नागरिकता दे दी जाती है।

visa kya hai visa kaise banvate hai full guide 

वीज़ा के लिए जरुरी document

पासपोर्ट : Visa के लिए apply करने के समय पासपोर्ट की वैलिडिटी कम से कम 6 महीने होना जरुरी है। पासपोर्ट में कम से कम दो खाली पेज का होना भी जरुरी होता है.इसके अलावा शुरू के 4 पेजेज का फोटोकॉपी भी  होनी चाहिए।

हाल ही की पासपोर्ट साइज कलर फोटो : इसके अलावा आपको पासपोर्ट साइज फोटोज की जरूरत होती है जो हाल में ही खींची गई हो.

निवास का प्रमाण – प्रूफ ऑफ़ रेजिडेंस : स्थाई प्रमाण के लिए आपको पहचान पत्र आधार कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, या फिर वाटर बिल जमा करना होता है।

पेशे का प्रमाण – प्रूफ ऑफ़ प्रोफेशन :  अगर आप किसी काम के लिए जा रहे हैं तो एम्प्लायर का सर्टिफिकेट और अगर आप एक छात्र हैं तो एजुकेशनल इंस्टिट्यूट द्वारा प्राप्त पहचान पत्र की फोटो कॉपी भी जमा करनी पड़ती है।

वित्तीय प्रमाण : आवेदक के पास US$ 150 के बराबर होना या फिर अपडेटेड बैंक स्टेटमेंट जो भारत की वित्तीय यात्रा का प्रमाण दिखा रहा हो.

वीजा बनने में कितना दिन लगता है

visa बनने के लिए कोई एक निश्चित समय नहीं है. यह कई बातों पर depend करता है कि उस वक्त कितने लोगों ने apply किया है और आपका आवेदन उनसे कितना पीछे है.


देखा जाए तो एक तरह से विजिटर visa बनवाने वाले 75 परसेंट लोगों का 19 दिनों में बन जाता है जबकि 90 परसेंट लोगों का 30 दिनों में बनकर तैयार हो जाता है और 95% लोगों का वीजा 49 दिनों में बनकर तैयार हो जाता है.

Conclusion 

आज के इस आर्टिकल में आपने पढ़ा। कि visa क्या होता है। visa के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए. जब भी किसी व्यक्ति को दूसरे देश में जाना पड़ता है चाहे वह यात्रा के लिए जाए या फिर काम करने के लिए जाए उसे एक visa की जररूत पड़ती है। इसके बिना दूसरे देश में 1 दिन भी नहीं रुका जा सकता है।
 इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, और व्हाट्सएप में अधिक से अधिक शेयर करें। अपने सवाल आप कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

Newest
Previous
Next Post »

thanks for visiting blog ConversionConversion EmoticonEmoticon