blog me auto internal linking kaise kare ~ shoutmeloudonline

blog me auto internal linking kaise kare

blog me auto internal linking kaise kare 

How to create auto interlinking in blog post (Blog ke post me apne article ko automatically link kare) 

blog me auto internal linking kaise kare


आज के इस post को आप एक नया फीचर जानने वाले है। अगर आपका blog blogger पर बना हुआ है। तो ऐसा पोस्ट को अंत तक पढ़िए। जो blogger wordpress का यूज करते है। उनके लिए ऐसा करना कोई बडी बात नही है। लेकिन blogger पर सब कुछ मैन्युअली करना पड़ता है। अगर सभी जिसका ब्लॉग blogger पर है। article लिखने के बाद अपने अन्य पब्लिश post के यूआरएल को नए post में interlink करते है। जिसकी वजह से यूजर हमारे अन्य सभी पोस्ट को आसानी से पढ़ पाएं। इसका एक और फायदा है।  interlinking करने से bounce rate कम होता है। जिसकी वजह से आपका blog rank करने लगता है।


interlinking kya hai iska kya fayda hai (auto internal linking step by step ) 


अपने अन्य page के यूआरएल को नए post में link करना ही interlinking है। यह on page seo का एक महत्वपूर्ण पार्ट है। आप सभी जानते है। कि blog को rank कराने के लिए seo कितना जरूरी है। अगर आप internal link create करते है। तो आपके blog के पुराने पोस्ट भी यूजर की नजर में आता है। और यूजर उसे read करता है। लेक़िन blogger के blog में interlink करना पड़ता है। अगर हम आपसे कहे कि बिना मैन्युअल link किये बिना सभी post में link हो जाये। तो कैसा लगेगा। हां आज आप इसके बारे में ही जायेंगे। आप इस post में इसका उदाहरण देख सकते है। तो चलिए शुरू करते है।

auto internal link in blog 

blog me auto internal linking के लिए
सबसे पहले आपको अपने  blog में login हो जाना है। यहां सबसे पहले आपको blog  theme में जाना है। इसके बाद आपको edit html में जाना है। यहां आप ctrl+F दबाएंगे। इसके बाद edit html में search box में आ जाएगा। इस keyword </head> को search करना है। इसके बाद आपको इस head tag के ऊपर css code को paste कर देना है। css code नीचे दिया गया है। इसके बाद save changes पर क्लिक करेंगे।

auto internal link in blog


अब आप save changes पर क्लिक करके code को save कर चुके होंगे। अभी एक यह कार्य अधूरा है। इसके बाद भी एक और कोड paste करना है तभी यह work करेगा। फिर आपको इस html them में ये keyword search करना है। <data:post.body/> 
इस code को search करें। ब्लॉगर में ये code आपको दो से तीन मिलेंगे। आपको सबसे लॉस्ट वाले code के नीचे एक html code patse करना है। html कोड का लिंक नीचे दिया गया है। वहा से downlod करें। जब आप इस html कोड को paste कर लेंगे। तो save changes पर क्लिक करके थीम को सेव कर लेना है। अब आपका word हो चुका है। अपने ब्लॉग को refresh करके देखें। अब जो post आप publish करेंगे। उसमे आपके पुराने post भी दिखाई देंगे ।यूजर उस पोस्ट पर क्लिक करके आपके उस article को पढ़ सकता है। इसकी वजह से यूजर को अधिक यूजफुल article मिलेंगे। और आपके ब्लॉग पर page व्यूज अधिक होगा। इसके अलावा आपके blog का bounce rate reduce होगा। जिस blog का bounce rate कम होता है ।वह blog search engine में रैंक करता है।

Note: जब भी आप blog theme में किसी प्रकार का परिवर्तन करें। तो सबसे पहले backup बना लें। ताकि किसी प्रकार की समस्या error आने पर आप restore कर सके। css और html कोड को notepad में open करने के बाद उसे कॉपी करके Theme में paste करें।


Conclusion- आज के इस article में अपने पढ़ा blog में automatic internal linking कैसे करते है ।और इसका क्या फायदा है । उम्मीद है। कि जो new blogger seach कर रहे थे। how to create automatically internal linking in blog, what's auto interlinking, how to use automatically linking in blog post इन सभी प्रश्नों का answer आपको इस post में मिल  गया होगा। उम्मीद है। कि यह article आपके लिए बहुत ही helpful रहा होगा। इस जानकारी को share कीजिये। अगर आपके मन मे कोई प्रश्न है। तो कॉमेंट करके पूछ सकते है।
यहां क्लिक करें। 

CSS code download      click here
HTML  CODE.       Click here

Video देखें


Previous
Next Post »

thanks for visiting blog ConversionConversion EmoticonEmoticon