keyword stuffing in hindi 2019

keyword stuffing kya hai iske fayde aur nuksan 

अगर आपने अपना एक नया blog या website  बनाया है तो आपको on page seo करना पड़ेगा। keyword stuffing के बारे में आपने सुना होगा। यदि नही। तो आपको इसके बारे में ही बताया जाएगा। यह seo का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। 


अक्सर ब्लॉगर यहीं गलती करते है। जिस keyword को टारगेट करके आप अपना आर्टिकल लिख रहे है। उस keyword के यूज़ की एक लिमिटेसन होती है। वह कितनी होनी चाहिए। इसकी जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। यहां गलती करने पर google bots आपके article को serch में नही लाएंगे। इसके बारे में जानने के लिए आप इस post को पूरा पढ़िए।
keyword stuuffing क्या होता है। 

keyword stuffing in hindi 2019

इसके लिए आपको सबसे पहले keyword क्या होता है इसको समझना पड़ेगा । उसके बाद ही आपको keyword stuffing kya hai का सही मतलब समझ आएगा ,तो चलिए आपको संछेप में समझा देता हूँ कि keyword क्या होता है। जब भी लोगो द्वारा  एक जैसे  words को google, bing या yahoo और अन्य सर्च इंजन में search करते है तो जो result आता है। वह keyword के base पर आता है।

keyword stuffing kya hai

google search engine द्वारा  ऐसे  words को keyword बना देता है  for example जैसे बहुत से लोग internet पर search करते है keyword stuffing क्या है।  तो ये एक कीवर्ड बन गया। इसमें आपको 2 main keyword मिल जाएंगे। पहला keyword और दूसरा stuffing। google bots इसके आधार पर search result देते है। अगर इसका यूज article में बहुत अधिक बार किया जाएगा। तो यह google algoritham के against होगा। और इस प्रकार आपका article penalize भी हो सकता है। यानि article कभी भी रैंक नही करेगा। तो इससे बचने के लिए ध्यान से इन article को पढ़िए।

keyword के आधार पर article search में आता है।  professional blogger कीवर्ड को target करके article लिखते है। वे seo करते समय google algoritham के rule का पालन करते है।  वो सब अपनी पोस्ट को search engine में 1st page पर लाने के लिए उस पोस्ट का on page seo करते है जिसमे कीवर्ड  को इस्तेमाल करने का तरीका होता है जिसे वो लोग भली भाती जानते है और उनको पता है की keyword stuffing kya hai इसलिए वो इससे बचे रहते है और नए ब्लॉगर इस जाल में फस जाते है। अगर अपना पोस्ट कभी रैंक नही करा पाते है।
keyword stuffing (density) क्या है
पोस्ट में targeted या focus  कीवर्ड को बहुत ज्यादा बार use करना ही  keyword stuffing कहलाता है  मान लीजिये। कि  आपने  blogging ke tarike  कीवर्ड के ऊपर 500 word की एक पोस्ट लिखी जिसमे आपने इस कीवर्ड को 20 टाइम्स use किया तो आपकी कीवर्ड डेनसिटी 4% हो जायगी जो की 2.5% से ऊपर है google इसे keyword stuffing मान लेगा। और आपकी पोस्ट की रैंक को down कर देता है। 
इसलिए जब भी कोई  पोस्ट लिखी जाती है तो उसमे keyword density का एक ratio set करना पड़ता  है जो की google  algoritham के अनुसार 2.5% से अधिक नहीं होना चाहिए, मेरा अनुभव है। कि आप बहुत अधिक main keyword का यूज न करें। आप अपनी पोस्ट में focus कीवर्ड की डेनसिटी को 1% – 2% तक ही रखे। 
keyword stuffing  से वेबसाइट या ब्लॉग पर क्या प्रभाव पड़ता है
आप इसके द्वारा अपनी पोस्ट को google search engine के पहले पेज पर ला सकते हो लेकिन ज्यादा समय तक नहीं जैसे ही google को इसके बारे में पता चलेगा वो आपकी पोस्ट को सर्च इंजन से remove कर देगा।

विजिटर को पोस्ट पढने में irritation होने लगेगा। जब एक ही कीवर्ड अनेको बार use किया जाएगा। google हमेसा अपना रेपुटेसन बनाकर रखता है। आपकी website का bounce rate लगातार बढ़ने लगेगा। एक ब्लॉगर को इसे मैनेज करके रखना चाहिए। अगर कंटेंट ब्लॉग के लिए bounce rate 40 से 60 के बीच ही होना चाहिए। 

आपकी इस तरह की गलती से आपके पोस्ट कभी रैंक नही करेंगे।

आपका blogging करियर खतरे में आ सकता है।

आपकी online earning धीरे-धीरे कम होती जायगी।

आपका ब्लॉग्गिंग करने का सपना टूट भी जाएगा।

अब आपको पूरी तरह समझ आ गया होगा की keyword stuffing kya hai और ये हमारे लिए कितना खतरनाक हो सकता है।  पोस्ट अच्छी लगी हो तो शेयर करना न भूले ताकि दुसरे नए ब्लॉगर को भी इसके बारे में पता चले धन्यवाद

Keyword Stuffing से क्या नुकसान है ?

  • यदि आप keyword stuffing के द्वारा अपने पोस्ट को search में लाने और रैंक करने की सोच रहे है तो आप गलत सोच रहे है, इससे आपका आर्टिकल रैंक करने की बजाय सर्च इंजन से ही हमेसा गायब हो सकत है। 
  • इसका ज्यादा बार इस्तेमाल से आपका blog या website penalized हो जायेगा, जिससे वह फिर सर्च इंजन में कभी भी दिखाई नहीं देगा.
  • इससे आर्टिकल बोरिंग हो जाता है, जिससे विजिटर आपके ब्लॉग को छोड़ कर चले जाते है, जिससे आपके ब्लॉग का bounce रेट भी बढ़ जायेगा। अगर आपका bounce rate 20 के आसपास है। तो आपके लिए बहुत अच्छी बात हो सकती है। इसका मतलब है। आपके यूजर blog पर समय दे रहे है। 
  • अपने दिमाग में एक बात बैठा ले की आप विजिटर के लिए आर्टिकल  लिख रहे है, न की सर्च इंजन के लिए.  

यदि आप सिर्फ keyword stuffing पर ध्यान देंगे तो आप एक बढ़िया आर्टिकल नहीं लिख पाएंगे.


Conclusion
आज के इस article में आपने keyword stuffing के बारे में जाना।इसके क्या फायदे और नुकसान है। अगर आपके blog post में इसका प्रतिशत 2 से अधिक रहेगा। तो आपकी website या blog search में नही आएगा। इन अभी जानकारी से आप अवगत हो चुके है। इस आर्टिकल में क्या कमी है। आपको यह article कैसा लगा। कॉमेंट करके जरूर बताएं। आपके सुझावों का हृदय से स्वागत है। 
Previous
Next Post »

thanks for visiting blog ConversionConversion EmoticonEmoticon